Join Our Tribal Meena Samaj Facebook Group!

हमारे बंदे में भी दम है

कितने चाव से देखते हैं TV पर जब हार्दिक पटेल गुजरात को लीड करता हुआ नजर आता है,अल्पेश भाई #गुजरात का हीरो बन जाता है
कल तक जो पाटीदार समाज के लिए लड़ रहे थे आज वह राहुल गांधी के लिए सलाहकार बन जाते हैं सब कहते देखो युवाओं में दम है क्या करिश्मा किया है पटेल नेक्या #हमारे अंदर नहीं है ये सब कुछ करने की हिम्मत क्या हमारे समाज में कोई हुआ नहीं है जो हमारे समाज को, हमारे राज्य की राजनीति को अच्छी तरह से लीड कर सके हम क्यों नहीं हमारे युवाओं को आगे लाते हैं और कोई आगे आता है तो उसका साथ क्यों नहीं देतेकब तक दूर के #ढोल को देखते रहोगे कभी तो अपना खुद का वजूद भी तो बना कर देखो
कभी अपनों का भी तो साथ दे कर देखो मजा तो तब आएगा फिर क्यों ना हम एक साथ होकर नरेश भाई को आगे आने का मौका दें
नरेश भाई के अंदर आपको क्या ऐसी कमी नजर आती है जो आप उनका साथ नहीं दे रहे हैंनरेश भाई खुद पढ़े लिखे युवा है मीणा हॉस्टल में रहे हुए हैं इंग्लिश लिटरेचर से m.a. b.a. है स्टूडेंट राजनीति से जुड़े हुए हैं युवाओं की दिक्कतों को समझते हैं

नरेश भाई खुद किसान के बेटा ही नहीं,खुद भी किसान हैं जो खुद मेहनत करके अपने खेतों की देखभाल करते हैं जुताई करते हैं यहां तक की हाड़ी के रूप में खेतों में काम भी करते हैं फिर क्या ऐसा युवा किसानों की दिक्कत को अच्छे से नहीं समझता होगा उसे किसान की मेहनत और पानी के मोल का अंदाज नहीं होगा क्या फिर क्यों नहीं हम उस का साथ देते हैं
नरेश मीणा कोई VIP परिवार से नहीं है वह भी हमारी तरह का आम आदमी है वह एक आम आदमी की दिक्कतों को अच्छे से समझते हैं गांव में पले-बढ़े हैं गांव में रहते हैं
जयपुर में आज भी किराए के मकान में रहते हैं उनके बच्चे तो क्या वह नहीं समझते होंगे कि बच्चों को पढ़ाई के लिए किराए पर कमरा लेते वक्त कितनी दिक्कत आती है तो फिर क्यों नहीं हम नरेश भाई का साथ देते हैं
नरेश मीणा ने भी बार-बार संघर्ष करके अपनी काबिलियत से लोगों के मुंह से कहलवाया है कि #बंदे में तो दम है
फिर क्यों नहीं हमारा समाज उसका साथ देकर आगे करताक्या हमें हमारा भविष्य सुनहरा नहीं चाहिए
कि हम नहीं चाहते कि हमारे समाज के युवा आगे बढ़े कब तक TV पर हार्दिक पटेल राहुल गांधी और यादवों की फोटो देखते रहेंगे कभी तो अपनों को भी तो आगे करके देखो तभी तो पता चलेगा कि हम में भी दम है और
हमारे बंदे में भी दम है

No comments:
Write comments