Join Our Tribal Meena Samaj Facebook Group!

हाथ में फावड़ा झाड़ू लेकर गाँव की सफाई में जुट गए हैं युवा

बारिश की वज़ह से गाँव में बहुत गंदगी बढ़ गई हैं, मच्छरों की वजह से बीमारियों ने गांव वासियो को परेशान कर रखा हैं, ऐसे समय में गांव के युवा टोली बनाकर गांव में सफाई अभियान चला रहे हैं जिसमे सभी को सहयोग करना चाहिए। आज इन्होंने थाई और गाँव वाले कुँए के आसपास सफाई की। ऐसे ही आप भी अपने आसपास सफाई अभियान चला कर गांव को स्वच्छ बनाने में अपना योगदान दे।

मोहचा विकास क्लब
मोविक् टीम के सहयोग से

मोहचा में एक बार फिर पूरा होगा 'बढ़ के नीचे ' बैठने का सपना

हम गांव में जब भी घर से बाहर बैठे होते हैं चोराये पर और किसी का फ़ोन आ जाये और वो पूछे कि कहाँ बैठे हुये हो तो, अकस्मात् ही हमारे मुँह से निकल जाता हैं- क़ि बड़ के नीचे

लेकिन जब गौर से देखेंगे तो पता चलेगा कि वहाँ से बड़ का पेड उखड़े तो कई साल हो गए हैं बस नाम बाक़ी रह गया हैं चोराये का
हा हम बात कर रहे हैं गोपाल सेठ के मकान के आगे होने वाले बड़ के पेड़ की जो कभी गाँव की पहचान हुआँ करता था, लेकिन वक्त के साथ वह पेड़ भी ग़ुम हो गया और उस पर बैठने वाले हज़ारो पछीयों का आशियाना भी उसी के साथ उजड़ गया था।
अब फिर से उसी जगह उसी बड़ के पेड को पुनः जीवित करने की कोशिश की हैं मोहचा विकास क्लब के सदस्यों ने, और सबके प्रयासों से गांव में 15 अगस्त के दिन उसी जगह पुनः बड़ का पेड लगाया गया हैं और आशा करते हैं आप सब के सहयोग और लगन से जल्द ही ये पेड़ छायादार हो कर फिर से गांववासियो को अपनी छाँव तले बैठने का अवसर देगा

मोविक् टीम के सहयोग से

मोहचा विकास क्लब की शानदार शुरुआत

सभी सदस्यों का शुक्रिया कि आप सब गांव के विकास के लिए एकजुट होने की मुहिम से जुड़े हुये हो, एक कॉमन सी बात हैं कि अच्छे कार्यो के लिए प्रकृति जो रास्ता बनाती हैं वे बड़े ही ऊबड़ खावद होते हैं, इन राहो में अक्सर कदम डगमगा ही जाते हैं, और जो समल गए समझो वो जीबन जीना सीख गए, जिस गांव ने हमें जन्म दिया पुरे बचपन अपनी गोद में खिलाया हो स्कूल में पढ़कर आज हम कोई ना कोई अच्छा कार्य तो कर ही रहे हैं, फिर हम ये भी तो सोचे कि जिस गांव ने हमें इतना कुछ दिया उसे हम क्या दे रहे हैं, क्या जिस स्कूल में हम पड़ते थे आज उसके हालात देखे हैं कभी, कभी सोचे कि गांव में किसी को बुखार आ जाए तो कितनी दिक्कते आती हैं क्या हम सब एकजुट और जागरूक होकर इन दिक्कतों को थोड़ा कम नहीं कर सकते, स्कूल के फटे हुये फर्श और बिगड़े हुए अनुसाशन को बदल नहीं सकते
*अगर मन से करे तो क्यों नहीं कर सकते गांव के 150 लोग सरकारी नोकरी मे हैं और भी रोजगार से हैं थोड़ा थोड़ा सहयोग सब करे तो क्या असंभव हैं, इसी सोच को लेकर  mohacha devlopment club बनाने की पेशकश हैं ये कैसे काम करे क्या काम करे कैसे युवायों को अच्छे जॉब्स के लिए प्रेरित करे इन्ही सब बातों पर एक विचार विमर्श हो जिसमें सभी बंधू हिस्सा ले और अपने विचार रखकर खुशहाल गांव और आदर्श स्कूल की मुहिम से जुड़े और सबको जोड़े*

*इन्ही मुद्दे को लेकर जन्माष्टमी पर स्कूल में एक मीटिंग का आयोजन किया जा सकता हैं जिसमे सभी सीनियर जागरूक बंधू और युवा भाई हिस्सा लेकर इस मुहीम को सफल बना सकते हैं, यदि आप इन बातों को लेकर अपने विचार व्हाट्स एप्प पर  देना चाहो  तो अपना नंबर 98297-38775 पर मैसेज करे आपको ग्रुप में जोड़ लिया जाएगा साथ ही इस सन्देश को आगे सभी गांव वालों तक पंहुचा कर एक आदर्श गाँववासी का फ़र्ज़ अदा करे
     मोविक्-टीम के सहयोग से
मोहचा विकास क्लब
Mohacha Devlopment क्लब